Narasimha Jayanti 2024 Date: कब है नरसिंह जयंती? रवि योग और स्वाति नक्षत्र में होगी पूजा, जान लें मुहूर्त, पारण, महत्व – kab hai Narasimha Jayanti 2024 Date muhurat puja time ravi yog swati nakshatra parana samay

हाइलाइट्स

वैशाख शुक्ल चतुर्दशी तिथि का प्रारंभ 21 मई को शाम 05 बजकर 39 मिनट से होने वाला है.नरसिंह जयंती के दिन पूजा का मुहूर्त 2 घंटे 44 मिनट तक का है.

हिंदू कैलेंडर के आधार पर नरसिंह जयंती का पावन पर्व वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाते हैं. उस दिन व्रत रखकर भगवान विष्णु के नरसिंह अवतार की पूजा करने का विधान है. पौराणिक कथाओं के अनुसार, अपने भक्त प्रह्लाद की रक्षा के लिए भगवान विष्णु ने नरसिंह अवतार लिया था. उसमें भगवान नरसिंह का आधा शरीर मनुष्य का और आधा शरीर सिंह का था. वे हिरण्यकश्यप के अत्याचारों से मुक्ति दिलाने के लिए दोपहर के समय खंभा फाड़कर प्रकट हुए थे. उन्होंने घर की दहलीज पर हिरण्यकश्यप को अपने जंघे पर लिटाकर दोनों हाथों के नखों से उसका पेट फाड़ दिया था. हिरण्यकश्यप को वरदान था कि उसे मनुष्य या जानवर, दिन या रात में, अस्त्र या शस्त्र से नहीं मारा जा सकता था. इस वजह श्रीहरि ने सबसे अनोखा स्वरूप नरसिंह का धारण किया. केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र से जानते हैं कि इस साल नरसिंह जयंती कब है? नरसिंह जयंती की पूजा का शुभ समय और पारण क्या है?

किस दिन है नरसिंह जयंती 2024?
वैदिक पंचांग के अनुसार, इस साल वैशाख शुक्ल चतुर्दशी तिथि का प्रारंभ 21 मई मंगलवार को शाम 05 बजकर 39 मिनट से होने वाला है. यह तिथि अगले दिन 22 मई को शाम 06 बजकर 47 मिनट तक मान्य रहेगी. इस साल नरसिंह जयंती 21 मई दिन मंगलवार को है.

ये भी पढ़ें: माथे-गले पर लगाएं हल्दी का तिलक, कार्य में सफलता के साथ हो सकते हैं 5 फायदे, गुरु दोष भी मिटेगा

नरसिंह जयंती 2024 पूजा मुहूर्त
21 मई को नरसिंह जयंती के दिन पूजा का मुहूर्त 2 घंटे 44 मिनट तक का है. उस दिन पूजा का शुभ समय शाम 04 बजकर 24 मिनट से शाम 07 बजकर 09 मिनट तक है.

रवि योग और स्वाति नक्षत्र में है नरसिंह जयंती
इस बार के नरसिंह जयंती के दिन रवि योग और स्वाति नक्षत्र का योग बन रहा है. उस दिन रवि योग सुबह 05:46 ए एम से अगले दिन 22 मई को सुबह 05:27 ए एम तक है. वहीं चित्रा नक्षत्र सुबह 05:46 ए एम तक है. उसके बाद से स्वाति नक्षत्र है, जो 22 मई को सुबह 07:47 ए एम तक है.

नरसिंह जयंती का पारण समय क्या है?
जो लोग नरसिंह जयंती पर व्रत रखेंगे, वे व्रत का पारण 22 मई दिन बुधवार को सुबह में सूर्योदय के बाद कर सकते हैं. उस दिन आपको पारण दोपहर में 12:18 पी एम से पहले कर लेना है.

ये भी पढ़ें: शुक्र के घर में सूर्य-बुध की युति, शुरू होगा 3 राशिवालों का गोल्डन टाइम, 15 दिन हो सकते हैं शानदार!

नरसिंह जयंती पर व्रत और पूजा के फायदे
1. नरसिंह जयंती के दिन भगवान नरसिंह की पूजा करने से भक्तों के अंदर का भय दूर होता है.

2. भगवान नरसिंह की कृपा से जीवन में आने वाले संकटों का नाश होता है. वे अपने भक्तों की रक्षा करते हैं.

3. उनकी पूजा करने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं और मनोबल बढ़ता है.

Tags: Dharma Aastha, Lord vishnu, Religion

Source link


Discover more from Khabar Ok News

Subscribe to get the latest posts to your email.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from Khabar Ok News

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading